Followers

Monday, May 28, 2007

भाई का सत्ता मे रहने का रिकार्ड

कोई कुछ भी कहे, एक बात तो माननी पडेगी । अपने नरेंद्रभाई भले ही किसी बात मे नंबर वन हों या ना हों एक बात में तो वो नंबर वन हैं । गुजरात के अभी तक के चौदह मुख्यामंत्रिओं मे वो पहले मुख्यमंत्री हैं जो सत्ता में इतने टिके हैं। उन्होनें सत्ता में टिके रहने का हितेंद्र देसाई और मधाव्सिंह सोलंकी का रिकार्ड तोड़ डाला है।
अपने नरेंद्रभाई की तोड़ डालने की कला कौन नही जानता । पूछो अपने केशुभाई से , अपने सुरेशभाई से पुलिसवाले अपने जसपाल भैया से। वड़ोदरा में एक तरफ वो बैठे हैं तो दूसरी तरफ अपने नयी नयी विद्रोही आत्मा नलिन भट्ट । किसी जमाने में इन सबकी तूती बोलती थी । और अब हाई कमांड को चिट्ठियाँ लिखने के अलावा और क्या कर सकते हैं ये भाजपा के दिग्गज।
खैर अपन बात कर रहे थे अपने गुजरात के पाँच करोड़ के अपने भाई नरेंद्रभाई की। कई बार सोचता हूँ की यह पांच करोड़ पांच करोड़ ही क्यों हैं। नरेंद्रभाई की पिन पाँच करोड़ पर ही क्यों अटकी हुई है। क्या वो गिनती भूल गएँ हैं , या फिर उनकी सरकार नें जनसँख्या नियंत्रण का ऐसा फार्मूला दूंद लिया है जिससे गुजरात की जनसँख्या बस पाँच करोड़ पर अटक कर रह गई है। जितने पैदा होते हैं उतने ही मर जातें हैं ! कुछ भी हों , अपने नरेन्द्र भाई तो नरेन्द्र भाई हैं । वो कुछ भी कर सकते हैं ।
खैर अपन बात कर रहे थे अपने नरेंद्रभाई के मुख्यमंत्री कार्यालय में रिकार्ड दिन । २१ मई की नरेंद्रभाई ने सभी के रिकार्ड तोड़ दिए। २०६२ दिन पूरे कर लिए मुख्यमंत्री कार्यालय में। १० जून को उनका सम्मान होगा अहमदाबाद में। साफ हैं अपने भाजपाई बताएँगे की अपने नरेंद्रभाई ने क्या क्या झंडे कहां कहां गाडे हैं । उनके राजनीतिक पी आर ओ राजकोट वाले हितेशभाई ने तो सब को ए मेल कर कर के ढोल पीटना शुरू कर दिया है।
खैर अपन वो बता रहे हैं जिसका ढोल अपने यार लोग दबी जुबान से पीटेंगे ।
इन दिनों में मोदीजी ने पार्टी में कितनों का सफाया कर दिया हैं। कितने आई ए एस नौकरी छोड़ गएँ हैं। कितने बिस्तर तैयार कर बैठे हैं। राह देख रहें हैं की अगर मोदीजी नहीं जातें हैं तो वो खुद ही दिल्ली चलें जायेंगे । यह कहना पड़ेगा की अभी तक कोई भी मुख्यमंत्री इतना विवादास्पद नहीं हुआ हुआ है।
अपने मोदी भाई का विवाद खडे करने का अपना ही अंदाज हैं। बडे पर तीर दागो और बडे हों जाओ । कॉंग्रेस में अपने मोदीजी सोनिया गाँधी से नीचे तो बात ही नही करते। गुजरात कॉंग्रेस के नेता तो कहीं हैं ही नही । प्रदेशाध्यक्ष भरत सोलंकी , प्रतीपक्ष के नेता अर्जुन भाई का तो कोई क्लास ही नहीं । सीधे पाकिस्तान के जनरल मुशर्रफ के लेवल पर ही निशाना। वहां से कोई जवाब नहीं और यहाँ वाह वाह। आ सकता है कोई अपने मोदीजी की टक्कर में। यूँ ही नही बनते रिकार्ड। जय नरेन्द्र भाई । जय नरेन्द्र भाई की पाँच करोड़ की जनता .

1 comment:

Raviratlami said...

बढ़िया व्यंग्य :)

Post this story to: Del.icio.us | Digg | Reddit | Stumbleupon